अल्सर से बचाव के लिए घरेलू उपचार

703

अल्सर से बचाव के लिए घरेलू उपचार (Home Remedies For Ulcer)

अल्सर (ulcer) शरीर की ऊपरी त्वचा या म्यूकस झिल्ली पर उभरा हुआ घाव होता है। अल्सर ज्यादातर हेलिकोबैक्टर पायलोरी (Helicobacter pylori) नाम के जीवाणु द्वारा होता है। पेट की आंत (Intestine) में कई प्रकार के द्रव्य निकलते हैं जो भोजन को पचाने में सहायक होते हैं लेकिन जब यह द्रव्य ज्यादा मात्रा में निकलते हैं तो पेट व आंत की कोमल त्वचा को जलाने लगते हैं। इसके कारण पेट में घाव बन जाता है।

oldveda-old-veda-logo-banner-health-lifestyle-ayurveda

 

जानिए अल्सर से बचाव के घरेलू उपाय (Home remedies for ulcer):

1. पोहा (Bitten rice)- पोहा अल्सर के उपचार में बेहद फायदेमंद है। पोहा और सौंफ को बराबर मात्रा में मिलाकर पाउडर बना लें। इस पाउडर की 20 ग्राम मात्रा को 2 लीटर पानी में घोलकर रख दीजिए। दोपहर से रात तक इस पानी को पूरा खत्म करें। अल्सर से राहत मिलेगी।

2. पत्ता गोभी और गाजर (Cabbage and carrot)- पत्ता गोभी में लेक्टिक एसिड होता है जिससे एमीनो एसिड बनता है जो पेट में रक्त का प्रवाह बढ़ाता है। इसके साथ ही पत्ता गोभी में विटामिन सी (vitamin c) भी उच्च मात्रा में होता है। पत्ता गोभी और गाजर को बराबर मात्रा में मिलाकर जूस तैयार करें और सुबह शाम एक-एक कप पीएं।

3. नारियल (Coconut)- नारियल में एंटीबैक्टीरियल गुण पाये जाते हैं, जो कि अल्सर पैदा करने वाले बैक्टीरिया को मार देते हैं। नारियल के दूध और पानी में भी एंटी- अल्सर गुण पाये जाते हैं। अल्सर के उपचार के लिए रोजाना नारियल पानी पीएं। नारियल के तेल का सेवन भी अल्सर से बचाता है।

4. गाय का दूध (Cow milk)- हल्दी में एंटी बैक्टीरियल गुण होते हैं, गाय के दूध में हल्दी मिलाकर पीने से भी अल्सर रोगियों को लाभ मिलता है।

5. बादाम (Almond)- अल्सर रोगियों को बादाम पीसकर, खाने से लाभ होता है। बादाम को पीसकर उसका दूध जैसा बनाकर पीएं।

6. सहजन (Drum stick)- सहजन की फली भी स्वास्थ्य के लिहाज से बेहद फायदेमंद है। इसमें एंटी बैक्टीरियल गुण होते हैं जो रोगों से लड़ने में सहायक होते हैं। सहजन की फली को पीसकर, दही के साथ मिलाकर खाने से अल्सर रोग में आराम मिलता है।

7. शहद (Honey)- कच्चा शहद भी पेट के अल्सर में बेहद लाभकारी है। शहद में ग्लूकोज पैरॉक्साइड (glucose peroxide) पाया जाता है, जो पेट में मौजूद हानिकारक बैक्टीरिया को खत्म कर देता है। इसके साथ ही शहद के सेवन से पेट की जलन से भी आराम मिलता है।

8. केला (Banana)- केला में एंटीबैक्टीरियल तत्व पाए जाते हैं। केला खाने से एसिडिटी से भी राहत मिलती है। कच्चा और पका दोनों ही तरह का केला खाने से अल्सर रोगियों को बेहद आराम मिलता है। कच्चे केले की सब्जी बनाकर उसमें एक चुटकी हींग मिलाकर खाएं।

9. लहसुन (Garlic)- लहसुन पेट के अल्सर में बेहद लाभकारी है। उपचार के लिए दो से तीन लहसुन की कलियों को कुचलकर, पानी के साथ खाएं।

10. बेलफल (Wood apple)- पेट के अल्सर में बेलफल और उसकी पत्तियों का सेवन भी बेहद लाभदायक है। पत्तियों में मौजूद टेनिन्स पेट को, किसी भी तरह के नुकसान से बचाता है। बेलफल का रस भी पेट की जलन और दर्द को दूर कर, अल्सर से बचाता है।