तम्बाकू एक,बीमारियाँ अनेक

834

तम्बाकू का नशा विश्व में सबसे ज्यादा प्रचलित नशे में से एक है । तम्बाकू के कारण प्रतिवर्ष लाखो मौतें होती हैं| फिर भी तम्बाकू के सेवन में कोई कमी होती नजर नहीं आ रही हैं । तम्बाकू का सेवन लोग धूम्रपान, मुंह में रखकर या चबाकर अथवा नसवार के रूप में करते हैं । इसके सिगरेट, बीड़ी,हुक्का, चिलम, जर्दा, खैनी, गुटखाजैसे अनेक रूप हैं l

तम्बाकू की घातकता ( Harmful Effects Of Tobacco ) – तम्बाकू में निकोटिन सहित अनेक घातक तत्व पाये जाते हैं । जो फेफड़े, गले,मुंह का कैंसर (Lung,throat and mouth cancer), उच्च रक्त चाप (High blood pressure), ह्रदयरोग, अम्लपित, अल्मर, अस्थमा,धमनकाठिन्यता जैसे खतरनाक रोगो का कारण बनते हैं ।

क्यों करते हैं लोग तम्बाकू सेवन(tobacco addiction causes) –तम्बाकू का सेवन अनेक कारणों से किया जाता है । कभी तनाव कम करने के लिए, कभी अकेलापन दूर करने के लिए, कभी अन्य लोगो को देखकर तो कभी फिल्मों आदि सेप्रभावितहोकर,कभी दोस्तों के दबाव की वजह से तो कभी पारिवारिक माहौल भी नशे का कारण बनता है।   logo-272

*कैसे छोड़ें तम्बाकू का नशा (how to quit tobacco addiction)–

1.पक्का निश्चय करें की आपको नशा छोड़ना ही है

2.खान पान एवं लाइफ स्टाइल की हैल्दी आदते अपनाएं ।

3.खानपान में फल एवं हरी सब्जिया, दूध, दही, छाछ, दलिया, खिचड़ी आदि शामिल करें, घी, तेल से बनी चीजें, समोसे, कचौड़ी एवं तली भुनी चीजों का त्याग करें । समय पर सोयें, समय से उठ जाएँ,योगा, प्राणायाम, व्यायाम का नियमित अभ्यास करें ।

4.व्यस्त रहें, अकेले न रहें, अपनी रूचि विकसित करें ।

5.तलब लगने पर सौंफ, इलायची, हरड़ या सूखे आँवले के टुकड़े । नींबू पानी, मौसमी या गाजर,टमाटर का ज्यूस पीयें ।

  1. नींबू के रस में अदरक के छोटे छोटे टुकड़े करके डालें, हल्का काला नमक डालकर धुप में सुखा लें । तलब लगने पर 1-2 टुकड़े चबाएं । इससे भूख खुलकर लगती है, पेट की गैस खत्म होती है, नशे की तलब से आराम मिलता है ।

7.हरड़ वटी, लसुनादि वटी, अनारदाना वटी भी नशे की तलब को कम करती हैं । इनका भी सेवन करें l

8.नशा छोड़ने पर बेचैनी, बदन दर्द, सर दर्द, अनिद्रा, अरुचि जैसे लक्षण होते हैं । इन्हे विड्रावल लक्षण (Widraval Symptoms ) कहा जाता है इन लक्षणों में आयुर्वेद की औषधियाँ ( Ayurved Medicines ) जैसे गोदन्ती मिश्रण, योगराज गुग्गुलु, ब्राह्मी वटी, सारस्वतारिस्ट, त्रिफला चूर्ण आदि बहुत उपयोगी हैं किन्तु इन्हें चिकित्स्क की राय से ही सेवन करें ।

31th may को प्रति वर्ष विश्व तम्बाकू निषेध दिवस – World no tobaccco  day मनाया जाता है आइये इस दिन से तम्बाकू के नशे को बाय बाय करें और सेहत भरी जिन्दगी अपनाएं l